Love ThEn and NOW

प्यार तब और अब …………….. वक़्त कितनी तेजी से बदलता है न ? जब हमने होश संभाला तो इस तरह के रूमानी ख्यालों में खोये कि आज तह उभर नहीं पाए ,यह बात और है कि उम्र तमाम हुई इस के रूमानी दुनिया की खोज में 🙂 और आज के दिल्ली टाइम्स प्यार का यह रंग पढ़ा और लिखा हुआ अपना याद आया  प्यार ...

[Continue reading]

प्लेटोनिक लव with AMRITA PREETAM

अमृता के बारे में कई लोग ऐसा मानते हैं कि अमृता अपने लेखन में निरे भावुक स्तर पर ठहर गई और उनका पूरा लेखन प्लेटोनिक लव और उस से जुड़ी इमोशंस के इर्द गिर्द ही घूमता रहा है | और उस में निरी भावुकता होती है ..इस पर अमृता ने जवाब दिया यह भावुकता नही है कोरी ..इसको इमोशंस की ” रिचनेस” कह सकते ...

[Continue reading]

चाँद और करवाचौथ : Amrita Preetam

नजर के आसमान से सूरज कहीं दूर चला गया पर अब भी चाँद में . उसकी खुशबु आ रही है … तेरे इश्क की एक बूंद इस में मिल गई थी इस लिए  मैंने उम्र की सारी  कडवाहट  पी ली .. अमृता के कहे से : Amrita Preetam का कहना था कि दुनिया कि कोई भी किताब हो हम   उसके चिंतन का दो बूंद ...

[Continue reading]

Shabana Azami शबाना आज़मी

शबाना आज़मी एक बेहतरीन अदाकारा शबाना आज़मी एक बेहतरीन अदाकारा हैं यह बात किसी से छिपी हुई नहीं है ..पर इन दिनों वह फिल्में बहुत कम कर रही हैं .  कुछ इस वक्त का उपयोग वह अपने पिता के बचे हुए कार्यों को पूर्ण करने में लगा रही हैं ..उनके पिता कैफी आजमी अन्तिम दिनों में उत्तर प्रदेश के मिन्ज्वा गांव में जा कर ...

[Continue reading]

WOMEN IN SPACE महिला अन्तरिक्ष यात्री

WOMEN IN SPACE महिला अन्तरिक्ष यात्री. आज हर जगह महिला ने अपनी सकारात्मक भूमिका निभायी है चाहे वह कोई भी क्षेत्र रहा हो ..अन्तरिक्ष अन्वेक्ष्ण में भी महिलाओं का बहुत योगदान रहा है. पिछले आंकडे देखे जाए तो अब तक सबसे अधिक अमरीकी महिलायें अन्तरिक्ष में गयी हैं. वैसे महिलाओं को अन्तरिक्ष में भेजने का सिलसिला सबसे पहले रूस ने शुरू किया. 16 जून ...

[Continue reading]

Mansoon ki aahat

    देख के सावन झूमे है मन दिल क्यूँ बहका लहका जाए बादल की अठखेलियाँ बारिश की बूदें मिल के दिल में उत्पात मचाए भीगे मन और तन दोनो ताल-तलैया डुबो जाए देख के सब तरफ हरियाली मयूर सा दिल नाचा जाए तीज का त्योहार .सावन की फुहार … कुछ उमड़ धुमड के मनवानये गीत रचने लगता है ..ऐसा माना जाता है की ...

[Continue reading]

Life Review:Parents Aur Bacche

क्या बच्चे सिर्फ माँ की जिम्मेवारी है ? सवाल कई है और जवाब भी कई …? …परिवार टूटने लगे हैं बिखरने लगे हैं ..? और एक महिला घर पर रहे .क्या आपको लगता है कि  इस से समस्या सुलझ जायेगी …”?महिला कभी कोई भी काम करे अपने परिवार को भूल नही पाती है …पर जो हालत आज कल पैदा हो रहे हैं उस में ...

[Continue reading]