क्या काली जीरी अजवाइन खाली पेट ले सकते हैं ?

काली जीरी आप खाली पेट नहीं ले सकते हैं l वैसे यह बहुत उपयोगी मिश्रण है  मेथी दाने और अजवाइन के साथ l पर इसको मेरा खुद का अजमाया हुआ वक़्त रात को सोते वक़्त लेने का है , आइये पहले जानते हैं कि यह मिश्रण है क्या ?

काली जीरी क्या है ?

काली जीरी में आपकी पाचन शक्ति बढ़ाने की क्षमता है। जिन लोगों को कब्ज या पेट वाली बीमारियाँ है वे इसमें दो अन्य औषधियां मिलाकर प्रयोग करें। इस मिश्रण को त्रियोग कहा जाता है। तीनों औषधियों में मैथीदाना, जमाण और काली जीरी का सही अनुपात होता है। यह तीनों चीजें आपको आसानी से उपलब्ध हो जाती हैं। वजन घटाने के लिए भी यह प्रभावी मानी जाती है। इसके लिए आप 20 ग्राम काली जीरी को 100 ग्राम मेथी (,methi dana ) और 40 ग्राम अजवाइन( ajwaain ) में मिलाएं, और सभी को हल्के से भून लें। इसके बाद इस मिश्रण को हवाबंद डिब्बे में रखें, ताकि ये हवा के संपर्क में लगातार न रहे। रोज सोने के पूर्व हल्के गुनगुने पानी के साथ सेवन करें। यह महिलाओं के लिए वजन घटाने का एक विशेष उपाय है, इस पाउडर से पाचन में भी सुधार होता है।

वैध से सलाह लेनी जरूरी है ..

चरक संहिता में बताया गया है कि स्पष्ट है कि शरीर में कैसा भी जहर हो काली जीरी उसको नष्ट करने की क्षमता रखती है। इसमें शरीर में मौजूद हर प्रकार के कीड़ों को नष्ट करने की भी मारक क्षमता है। ५ ग्राम काली जीरी लेकर उसको २०० ग्राम पानी में धीमी आंच पर उबालें। जब पानी की मात्रा घटकर १०० ग्राम बच जाए तो उसको थोड़ा ठंडा करके पी जाएँ। लेकिन याद रखें, ये बहुत कड़वा होता है। केवल ५-६ दिन तक पीना पर्याप्त होता है। इसकी तासीर गर्म होती है और सभी के लिए उपयोगी और उपयुक्त हो यह आवश्यक नहीं है। इसलिए इसके प्रयोग से पहले किसी अच्छे वैध से सलाह जरुर लें l

काली जीरी (black qumin seed )क्या है ?

काली जीरी आकर में छोटी व स्वाद में तीखी व कड़वी होती है |ये बहुत  गर्म तासीर की होती है |ये काले रंग की होती है ये जीरे जैसी होती है पर जीरे से थोड़ी मोटी होती है |ऐसे “ब्लैक क्यूमिन सीड”black qumin seed  भी कहा जाता है |

इसके सेवन की विधि इस प्रकार है :आपने इस मिश्रण का रात को खाना खाने के दो घंटे बाद इस पाउडर का एक चम्मच गुनगुने पानी के साथ ही सेवन करना है |आपने इसके साथ गुनगुना पानी ही पीना है |औए इस मिश्रण को खाने के बाद कुछ भी नहीं खाना है | स्वाद थोड़ा कड़वा होता है और आपने इस मिश्रण का लगातार तीन महीने तक सेवन करना है |और आपने इसे बीच में एक दिन भी नहीं छोड़ना है क्योकि इस मिश्रण का असली असर तीन महीने बाद ही दिखाई देता है ,लेकिन इस मिश्रण का सेवन गर्भवती महिलाओ को नहीं करना चाहिए |क्योकि इसकी तासीर गर्म होती है |अगर कोई व्यक्ति किसी बीमारी से ग्रस्त हो तो वो भी इस मिश्रण के सेवन से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले या फिर किसी आयुर्वेदिक चिक्त्सिक से सलाह ले |

टिप्स

इस मिश्रण का सेवन करते हुवे कुछ बातो का धयान रखे जैसे यदि कोई वक़्ती गुटखा ,धूर्मपान ,शराब ,व मॉस मछली का सेवन करता हो तो वो बंद कर दे नहीं तो ये दवा असर नहीं करेगी |इस बात का विशेष धयान रखना है की आपने ये दवा रात को कहना खाने के दो घंटे बाद लेनी है और इसके सेवन के बाद कुछ नहीं खाना है |

आप फिर भी अपने वैध से सलाह करके इसको ले ,  क्योंकि हर शरीर की अपनी सहने की लेने की शक्ति होती है

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *