रॉयल ट्रेवेल विद @Orchard Tent Resort

Orchard resort pushkar

जब कोई प्रोग्राम अचानक से बने तो वह प्रोग्राम बहुत  ही दिल के करीब होता है | पिछले वीकेंड पुष्कर अजमेर का प्रोग्राम बना तो मेरी घुमक्कड़ी तबियत को जैसे सकूं मिला | पुष्कर अजमेर पहले २०१४  में जाना हुआ था पहली बार यह तब भी मनमोहक लगा था और अब दूसरी बार जाने पर भी उतना ही  आकर्षण लगा इस जगह में, यहाँ आप पहली ...

….ek yatara

  एक यात्रा… कहाँ है अब वह प्रकति के सब ढंग, धरती के ,पर्वत के सब उड़ गए हैं रंग.. पिछले दिनों हिसार जाना हुआ यह रास्ता मुझे वैसे भी बहुत भावुक कर देता है |रोहतक जहाँ बचपन बीता उसके साथ लगता कलानौर जहाँ जन्म लिया ..क्या वह घर अब भी वैसा होगा .कच्चा या वहां भी कुछ नया बन गया होगा ..बाग़ खेत ...

Kerala Gods Own country :Picture story

kerala Gods own country ,very true ,the most beautiful place on the earth ,this the house , जो हमेशा याद रहेगा एक अपनेपन के एहसास के साथ ,The literary meaning of Kerala is “the land of coconuts”. “Kera” in Malayalam (the language of Kerala) means coconut. As Kerala is abundant with coconut plants, it naturally got the name Kerala. In Kerala, you can find ...

Rishikesh ek nayi najar se @SamadhiCafe

ऋषिकेश सोचते ही क्या ध्यान आता है ? मेरे ख्याल से सबके दिमाग में पहले गंगा ,फिर मंदिर और वहां घूमते हुए साधू सन्यासी ? वैसे मुझे भी मुख्य भाव यही नजर आता है ,पर पिछले कुछ समय से जाते हुए यह सोच बदलने लगी है ,जब शायद पहली बार गयी हुंगी  मैं ,तब इसी सोच के साथ ही गयी थी ,फिर वहां की ...

यायावरी यादों की :Book Review

नीरज गोस्वामी जी से परिचय ब्लॉग के दिनों का है ,उनकी यह किताब “यायावरी यादों की संस्मरण” उन सभी के निट्ठलों के नाम है जो टाइम पास के नाम पर कुछ भी पढने को तैयार हो जाते है 🙂 ऐसा उन्होंने खुद अपनी इस किताब के पहले पेज पर लिखा है ,उसको पढ़ कर जो मुस्कान की एक लाइन आपके चेहरे पर आती है ...

window no 16 under section 214 b (Trump ka USA)

अरे !! शीर्षक पढ़ कर चोंकिये मत बहुत ही दिल के करीब का किस्सा सुनाया जा रहा है सीधे इस खिड़की से । क्या कभी आपने सपने को जो कभी देखा ही नहीं,पर उसको आँखों के आंगन में उतरते और फिर उसके पँखो पर सवार खुद को देखा है ?मैंने  देखा है ,जो अक्सर विदेश यात्रा पर रहते हैं वह इस सेक्शन से परिचय ...

CHUNNIYON ME LIPTA DARD:Book Review

काव्य संग्रह -चुन्नियों में लिपटा दर्द कवयित्री -हरकीरत हीर प्रकाशक – अयन प्रकाशन मूल्य – 250 /- प्राप्ति लिंक – CHUNNIYON-LIPTA-DARD-HARKIRAT-HEER   कई बार मैं सोचती हूँ कि जब ईश्वर आंसू दर्द बाँट रहा होगा तो उसको “आदम और हव्वा “में कौन अधिक इसके लिए उपयुक्त लगा होगा ? या उस वक़्त की हव्वा ने कहीं अपनी किसी सोच में खुद को तो इस ...

जश्न जारी है :Amrita Pritam

  ३१ तारीख इसका अमृता के जीवन पर बहुत असर रहा है .जैसे वह ३१ अगस्त को पैदा हुई ..३१ अक्तूबर को उन्होंने आखरी सांस ली ..और उनकी ही ज़िन्दगी से जुडा एक ३१ जुलाई १९३० और है .जब उनको ज़िन्दगी एक नए मुकाम पर खड़ी हुई होगी …..जिसके बारे में उन्होंने लिखा है  कोई ग्यारह बरस की थी जब एक दिन अचानक माँ ...